सिमडेगा के ठेठईटांगर थाना क्षेत्र में 60 वर्षीय महिला को किया गया जला कर मारने का प्रयासः

0
8

रिपोर्ट- संजय वर्मा…

28 नवंबर को भीड़ तंत्र ने किया था आदिल अंसारी नामक मानसीक रोगी की पीटाई।

4 जनवरी को कोलेबिरा थाना क्षेत्र के बेसराजारा में भीड़ ने की संजू प्रधान की हत्या।

12 जनवरी की रात ठेठईटांगर थाना क्षेत्र में रात 8.00 बजे भीड़ ने किया महिला को आग लगा कर जान मारने का प्रयास

रांचीः मोबलिंचिंग की घटना सिमडेगा जिला में होनी आम बात हो चुकी है, क्योंकि जिले के कोलेबिरा थाना क्षेत्र में 4 जनवरी को संजू प्रधान की मोबलिंचिंग में हुई हत्या का मामला अभी थमा भी नही है कि, जिले के ठेठईटांगर थाना क्षेत्र में फिर एक बार 12 जनवरी की रात 8 बजे डायन बिसाही का आरोप लगा कर 60 वर्षीय झोरियों देवी को जला कर मारने का प्रयास भीड़ तंत्र द्वारा किया गया।

12 जनवरी की रात 8.00 बजे भीड़ ने 60 वर्षीय झोरियो देवी को किया आग के हवालेः

घटना 12 जनवरी की रात 8 बजे की है। जैसे ही इस घटना की जानकारी “ताजा खबर झारखंड” की टीम को मिली, हमारी टीम ने इस मामले से “एचआरएलएन” की टीम को अवगत करवाते हुए, राजधानी रांची के देवकमल अस्पताल पहुंची और पीडिता के परिजनों से मुलाकात कर पुरे मामले की जानकारी ली। पीड़िता के बेटे, बिरेन्द्र बड़ाईक ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि 40-50 की संख्या में मौजुद लोगों ने पहले तो मेरी मां झोरियो देवी की जमकर पीटाई की, फिर जमीन पर पटक कर उसे पुआल से ढंक दिया और किरोसीन तेल उड़ेल कर आग के हवाले कर दिया। घटना के बाद सभी आरोपी वहां से भाग खड़े हुएं। लेकिन शरीर का हिस्सा जमीन में सटे रहने और पुआल शरीर के उपर रहने के कारन पुआल छन भर में ही जल कर राख हो गया, लेकिन शरीर का उपरी हिस्सा सिर से लेकर कमर तक बुरी तरह झुलस चुका है। पीड़िता झोरियों देवी इसी जली हुई अवस्था में ही भाग कर अपने बेटे, बिरेन्द्र के घर पहुंची और पुरे घटना क्रम की जानकारी दी। आनन-फानन में पीड़िता के बेटे बिरेन्द्र बड़ाईक ने ऑटो मंगवा कर अपनी मां को सिमडेगा सदर अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां चिकित्सक ने बर्न केस होने के कारन पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद पुलिस अस्पताल पहुंच कर पीड़िता का बयान दर्ज किया। पीड़िता ने पुलिस को दिये बयान में कहा है कि 40 से 50 की संख्या में लोग मौजुद थें, लेकिन मैं 6 लोग फ्लोरेंस डुंगडुंग, सेलबेरयुस डुंगडुंग, अमृत टेटे, रवि सोरेन, हेमंत टेटे और ज्योति टेटे को पहचानती हूं।

घटना की जानकारी देते पीड़िता के बेटे बिरेन्द्र बड़ाईक और उनकी पत्नी.

पूर्व में भी मां के साथ मारपीट होने पर ठेठईटांगर थाना को सूचना दिया गया था, लेकिन थाना स्तर से कोई कार्रवाई नही हुई थीः बिरेन्द्र बड़ाईक, पीड़िता का बेटा

पीड़िता के बेटे बिरेन्द्र बड़ाईक ने बताया कि नवंबर 2021 में भी डाय़न कह कर मेरी मां को हॉकी स्टीक और डंडे से पीटा गया था। उस वक्त मां थाना जा तक थानेदार से शिकायत की थी, लेकिन थानेदार ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नही की, जिसके कारन इस बार घटना होने पर मैंने थाने को सूचना नहीं दिया और घायल मां को लेकर ईलाज के लिए सदर अस्पताल पहुंचा, लेकिन डॉक्टर ने फोन कर घटना की सूचना थाने को दिया, जिसके बाद पुलिस अस्पताल पहुंची और मां का बयान दर्ज किया। सुबह में पुलिस ने मुझे मां का ईलाज करवाने के लिए 5000 रुपया दिया और रांची पहुंचाया। यहां देवकमल अस्पताल में मां को भर्ती करवाया गया है, जहां वो आईसीयू मे भर्ती है।

आरोपियों में पांच गिरफ्तार एक फरार, अब भी आरोपियों के परिजन पीड़ित के परिजनों को दे रहे हैं धमकीः

पीड़िता के बेटे बिरेन्द्र बड़ाईक ने बताया कि, रात में मां का बयान लेने के बाद पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन एक आरोपी अमृत टेटे फरार है। जिन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, उनके घर वाले फोन कर धमकी दे रहे हैं कि तुमलोगों ने पुलिस में केस किया है, तुमलोगों को भी नहीं छोड़ेंगे।  

एचआरएलएन की टीम को जानकारी देते पीड़िता के परिजन.

11 दिन पहले आरोपी फ्लोरेंस के पत्नी की मौत जल कर हुई थीः

बिरेन्द्र बड़ाईक के अनुशार 11 दिन पहले मां को जलाने वाले फ्लोरेंस की पत्नी, मरियाना टेटे की मौत जलने से हुई थी। फ्लोरेंस ने मां पर आरोप लगाया था कि तुमने ही जादू-टोना करके मेरी पत्नी को मारा है। ऐसा कह कर उसने कुछ लोगों के साथ मिल कर मेरी मां को दिन में अपने घर बुलाया था, लेकिन मां बारिश के कारन दिन में नहीं गई। मां शायं में घर का काम निपटा कर शायं के 6 बजे फ्लोरेंस के घर पहुंची उसी, वक्त डायन कह कर मां के साथ मारपीट किया गया, फिर उसे जला कर मारने का प्रयास किया गया। मां के सिर से लेकर कमर तक का हिस्सा जल गया है।

जानकारी देते चलें कि सिमडेगा जिले में 28 नवंबर 2021 को भी आदिल हुसैन नामक युवक की पीटाई भीड़ द्वारा किया गया था, जिसका बयान पुलिस ने 7 जनवरी को दर्ज किया है। उसके बाद जनवरी माह में 4 जनवरी को संजू प्रधान की हत्या और 12 जनवरी को 60 वर्षीय महिला को जला कर मारने का प्रयास भीड़तंत्र द्वारा किया गया है।  

Leave A Reply

Your email address will not be published.