गुदड़ी प्रखंड बनने के 7 साल बाद भी यहां के निवासी यातायात, दूरसंचार, बैंक और चिकित्सा सुविधाओं से हैं वंचित…

0
5

ब्यूरो रिपोर्ट…

मनोहरपुरः झारखण्ड अलग राज्य का निर्माण हुए 20 वर्ष और प. सिंहभूम जिला में गुदड़ी प्रखण्ड की स्थापना हुए 7 वर्ष गुजर चुकी है, लेकिन 7 वर्ष बीत जाने के बाद भी गुदड़ी प्रखण्डवासी वर्तमान में भी यातायात, दूरसंचार, बैंक, सुव्यवस्थित चिकित्सा सुविधाओं से वंचित हैं। उक्त बातें “आस” के संयोजन ने अपनी टीम के साथ गुदड़ी प्रखंड का दौरा करने के बाद कही।

आस के संयोजक, सुशील बारला ने दौरे के क्रम में पाया कि विगत 5 माह से चिकित्सा वाहन, सेरेंगदा में खराब स्थिति में खड़ी है, जिस पर स्वास्थ्य विभाग की नजर नही है। वहीं मराश्रम से सेरेंगदा तक सड़क की स्थिति अत्यंत ही जर्जर स्थिति में है। कच्ची सड़क है लेकिन कीचड़ से भरी है, जिस पर दो पहिया या चारपहिया वाहनों का चलना मुश्किल है। जिन्हें अतिआवश्यक कार्य से कहीं जाना है, तो वे लोग किचड़ भरे इस रास्ते से ही होकर गुजरते हैं। सरकार या स्थानीय प्रशासन द्वारा गुदड़ी प्रखंड के प्रति नजरअंदाजी को देखते हुए प्रखंड के ही समाजसेवी इमानुएल भेंगरा ने स्थानीय ग्रामीणों के सहयोग से श्रमदान कर फिलहाल कीचड़ भरे इस रास्ते को चलने लायक बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

5 माह से खराब पड़ा एंबुलेंस, जिसकी मरम्मती के लिए ग्रामीण कर रहे हैं चंदा जमा.

वहीं लगभग 5 माह से खराब पड़े चिकित्सा वाहन को भी ग्रामीणों ने समाजसेवी इमानुएल भेंगरा की देखरेख में मरम्मत करवाने का बीड़ा उठाया है, इसके लिए ग्रामीण आपस में ही चंदा जमा कर रहे हैं।  गुदड़ी प्रखंड की सरकार द्वारा उपेक्षा देख कर ऐसा प्रतित होता है कि इस प्रखंड से स्थानीय प्रशासन या सरकार को कोई लेना देना नहीं है। या फिर एक साजिश के तहत इस प्रखंड के निवासियों को सुविधाओं से वंचित रखने का प्रयास किया जा रहा है।

श्रमदान कर गड्ढे में बोल्डर भरते गुदड़ी प्रखंड के ग्रामीण.

Leave A Reply

Your email address will not be published.