झारखंड के डॉक्यूमेंट्री फिल्म मेकर, दीपक बाड़ा की फिल्म ‘THE UGLY SIDE OF BEAUTY’ को ‘जापान प्राइज 2021’ से किया गया सम्मानित…

0
9

ब्यूरो रिपोर्ट…

रांचीः झारखंड के डॉक्यूमेंट्री फिल्म मेकर दीपक बाड़ा की फिल्म ‘THE UGLY  SIDE OF BEAUTY’ को ‘जापान प्राइज 2021’ से सम्मानित किया गया है। इसकी जानकारी जापान सरकार की प्रसारण संस्था एनएचके के द्वारा 9 नवंबर को जापान की राजधानी टोक्यो में आयोजित फिल्म फेस्टिवल में ऑनलाइन दी गई। दीपक बाड़ा की फिल्म को यह स्पेशल अवार्ड ‘सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स’ के लिए दिया गया है।

48 मिनट की यह फिल्म झारखंड के कोडरमा और गिरिडीह जिले में अवैध ढंग से हो रहे अभ्रक खनन पर आधारित है। फिल्म के जरिए अभ्रक खनन से जुड़े वंचित समुदाय के बारे में जानकारी दी गई है। फिल्म में ये लोग किस तरह अपने परिवार के साथ मिलकर अभ्रक खनन और उसे चुनने का काम करते हैं, इसे दिखाया गया है।

मूलभूत सुविधाओं से वंचित लोग ढिबरा चुनते हुए.

यह फिल्म मुख्य रूप से अभ्रक खनन और सौंदर्य प्रसाधन उद्योग पर आधारित है, जिसमें खनन पर निर्भर समुदाय और इस व्यापार के राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक पहलुओं को गहराई से दिखाया गया है। फिल्म में आदिम जनजाति से आने वाले बिरहोर समुदाय की स्थिति के बारे में बताया गया है कि, कैसे जंगल में अस्थायी झोपड़िया बनाकर इस समुदाय के लोग ढिबरा चुनने का काम करते हैं और ये भी दिखाया गया है कि, मूलभूत सुविधाओं से वंचित यह समुदाय कैसे खेती के अभाव में इन कामों को करने के लिए मजबूर है।

दीपक बाड़ा, डॉक्यूमेंट्री फिल्म मेकर

फिल्म के निर्माता रांची निवासी दीपका बाड़ा हैं और फिल्म में बतौर कैमरामैन आनंद हेम्ब्रोम, सुदीप भेंगरा, मिन्हाज अख्तर, अपूर्व देवलकर की भूमिका रही है। जबकि शोधकार्य सामाजिक कार्यकर्ता सह वरीष्ठ पत्रकार अशोक वर्मा और सिंगापुर के डैनवाच ने काम किया है। फिल्म के लेखक व सह निर्माता सुमित्रा गोपाल और कार्यकारी निर्माता गैलन यो, खिम्म लो है। फिल्म को द मूविंग विजूअल्स कंपनी प्राइवेट लिमिटेड सिंगापुर के द्वारा चैनल न्यूज एशिया के लिए कमीशन किया गया है।

पुरस्कृत डॉक्यूमेंट्री फिल्म का सार्वजनिक प्रदर्शन 14 नंवबर, दिन रविवार को रांची के पुरूलिया रोड स्थित XISS सभागार में दोपहर 3.00 बजे किया जायेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.