बेरोजगार ईंट भट्टा मजदूर की 5 वर्षीय बेटी की ईलाज और परिवार को सरकारी योजनाओं का लाभ देने के लिए जिप सदस्य ने सीएम से लगाई गुहार…

0
6

रिपोर्ट- वसीम अकरम…

राँचीः राजधानी रांची से महज 30 किलोमीटर दूरी पर स्थित कांके प्रखंड के उरुगुट्टू पंचायत स्थित टीनागढ़ा गांव जहां ईंट भट्ठा मजदूर, बृज बैठा अपनी 5 वर्षीय पुत्री का ईलाज पैसे के अभाव में नही करवा पा रहे हैं और बच्ची दिन रात दर्द से तड़प रही है। बच्ची का पेट काफी फूल गया है और बच्ची खाना खाने में सक्षम नही है। वर्तमान में बच्ची सिर्फ लिक्विड के सहारे ही जिन्दा है। ये परिवार पैसे के अभाव में अपनी बच्ची को अस्पताल नही ले जा पा रहे हैं और बच्ची का ईलाज गांव में ही ओझा-भगत से करवा रहे हैं।

मामले की जानकारी मिलने के बाद जिप सदस्य हकीम अंसारी पहुंचे पीड़िता के घर…

मामले की जानकारी जैसे ही जिप सदस्य हकीम अंसारी कि मिली, वे तुरंत उरुगुट्टू गांव की ओर निकल पड़ें। गांव पहुंच कर हकीम अंसारी से पीड़ित परिवार से मुलाकात कर पूरे मामले की जानकारी ली और उनके घर की आर्थिक स्थिति को देखते हुए 2 हजार रुपये की आर्थिक मदद करते हुए जल्द ही बच्ची को अस्पताल पहुंचाने का आश्वासन दिया। इस परिवार के पास रहने के लिए अपना मकान भी नही है। मजबुरी मे अपनी मामी के खपरैल मकान में शरण लिए हुए हैं।

जिप सदस्य हकीम अंसारी ने राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता से अपील की है कि बच्ची और परिवार वालों की हालत को देखते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता स्वयं इस परिवार के सहयोग के लिए आगे आएं और इस परिवार को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाया जाए।

किसी गरीब की मौत भूख और दवा के अभाव में ना होः हकीम अंसारी जिप सदस्य

किसी गरीब की मौत भूख और दवा के अभाव में ना हो, सरकार से गरीबों को अनाज या दवा मिले या ना मिले, लेकिन कांके पश्चिमी के जिप सदस्य हकीम अंसारी ऐसे पीड़ित लोगों के लिए सप्ताह में सातों दिन चौबिसों घंटा खड़ा रहते हैं, जरुरत है तो सिर्फ इन्हें जानकारी मिलने की। हकीम असारी लॉक डाउन के दौरान हजारों गरीब और बेरोजगारों को खाद्य सामाग्री भी उपलब्ध करवा चुके हैं और वर्तमान में भी इनका ये अभियान जारी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.